कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय योजना”kasturba gandhi balika vidyalaya yojana

कस्तूरबा गांधी विद्यालय योजना 2022 बालिका शिक्षा शुरू की गई है| जैसा कि आप जानते हैं बालिका शिक्षा की दर भारत में कम रहती है| विशेषकर भारत में बालिकाओं की पढ़ाई बीच में रोक दी जाती है| के पीछे सामाजिक आर्थिक तथा घरेलू कई तरह के कारण रहते हैं| इसी समस्या करने के लिए kasturba gandhi balika vidyalaya yojana चलाई गई है|कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय वर्ष 2006-07 में भारत सरकार द्वारा बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने वाली आवसीय विद्यालयों की एक श्रृंखला के तहत प्रारंभ किया गया था |

देश में कुल 750 कस्तूरबा गांधी विद्यालय खोलने का लक्ष्य रखा गया था| योजना के तहत बच्चियों को 12वीं तक की शिक्षा हॉस्टल सुविधा की जाएगी| इस योजना का मुख्य उद्देश्य बालिकाओं को उच्च शिक्षा प्रदान करना है| भारत में बहुत से ऐसे राज्य हैं पैसे के अभाव के चलते लड़कियों को शिक्षा प्रदान नहीं की जाती है| इन्हीं लड़कियों को शिक्षा प्रदान करने के लिए कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय योजना की नींव रखी गई है| बाकी भारत की सब बालिकाओं को उच्च शिक्षा प्रदान की जा सके|

कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय योजना

इस योजना को सर्व शिक्षा अभियान के तहत अनुसूचित जाति जनजाति पिछड़े वर्ग समुदाय की बालिकाओं को प्राथमिकता दी जाएगी| इस योजना में सभी बालिकाओं को शिक्षा के साथ और भोजन की व्यवस्था भी प्रदान की जाएगी|कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय (KGBV) में सर्व शिक्षा अभियान, रास्ट्रीय बालिका शिक्षा कार्यक्रम और महिला समाख्या कार्यक्रमों के तहत तैयार किया गया है|कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय में पढने वाली लडकियों में 75% SC/ST, पिछड़ा वर्ग और अल्पसंख्यक समूह से आती हैं, जबकि 25% सीटें BPL परिवारों के लड़कियों के लिए आरक्षित है|

कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय योजना क्या है

अगस्त 2004 में भारत सरकार द्वारा Kasturba Gandhi Balika Vidyalaya योजना शुरू की गई थी, फिर सर्व शिक्षा अभियान कार्यक्रम में एकीकृत किया गया, ताकि शैक्षिक रूप से पिछड़े ब्लॉक में गरीबी रेखा, अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग, अल्पसंख्यक समुदायों और परिवारों से संबंधित लड़कियों के लिए शैक्षिक सुविधाएं प्रदान की जा सकें।

ग्रामीण क्षेत्रों में और वंचित समुदायों के बीच लैंगिक असमानता अभी भी कायम है। नामांकन के रुझानों को देखते हुए, लड़कों की तुलना में प्राथमिक स्तर पर लड़कियों के नामांकन में महत्वपूर्ण अंतर रहता है, खासकर उच्च प्राथमिक स्तर पर।

केजीबीवी के साथ यह परियोजना CARE इंडिया GEP के ऐतिहासिक हस्तक्षेपों में से एक है, जिसके तहत शिक्षकों, मुख्य शिक्षकों और शिक्षक पर्यवेक्षकों की क्षमताओं को प्रारंभिक ग्रेड साक्षरता के मुद्दों पर बनाया गया है, स्कूली बच्चों के बाहर और उन्हें उचित स्तर, सुरक्षा के लिए प्रेरित किया गया है।

और हाशिए की पृष्ठभूमि से लड़कियों और लड़कियों के नेतृत्व की सुरक्षा। केजीबीवी शिक्षकों को उपरोक्त मुद्दों पर हैंडबुक, और सहायक पर्यवेक्षण और सहकर्मी सीखने के मंच जैसी सामग्री भी प्रदान की जाती है।

Kasturba Gandhi Balika Vidyalaya yojana का उद्देश्य

  • कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय का मुख्य उद्देश्य विषम परिस्थितियों में जीवन-यापन करने वाली अभिवंचित वर्ग की बालिकाओं के लिए आवासीय विद्यालय के माध्यम से गुणवत्तायुक्त प्रारंभिक शिक्षा उपलब्ध कराना है।
  • इसके अलावा विद्यालय में कंप्यूटर संबंधी शिक्षा दी जाती है। हर छात्रा को हर माह 100 रुपया जेब खर्च मिलता है। पढ़ाई के अलावा विद्यालय में ही सिलाई, बुनाई पेंटिंग आदि का काम सिखाया जाता है।
  • माता-पिता/अभिभावकों को उत्प्रेरित करना जिससे बालिकाओं को कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय में भेजा जा सके।
  • मुख्य रूप से ऐसी बालिकाओं पर ध्यान देना जो विद्यालय से बाहर (अनामांकित/ छीजनग्रस्त) हैं तथा जिनकी उम्र 10 वर्ष से ऊपर है।
  • विशेषकर एक स्थान से दूसरे स्थान घूमनेवाली जाति या समुदायों की बालिकाओं पर विशेष ध्यान केन्द्रित करना।
  • 75 प्रतिशत अनुसूचित जाति/जनजाति/अत्यन्त पिछड़ा वर्ग तथा अल्पसंख्यक समुदाय की बालिकाओं तथा २५ प्रतिशत गरीबी रेखा से नीचे वाले परिवार की बच्चियों को कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय में प्राथमिकता के आधार पर नामांकन कराना।

कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय के लिए पात्रता

  • छात्रा पांचवीं पास किसी मान्यता प्राप्त स्कूल से होनी चाहिए।
  • इस बार सातवीं कक्षा के लिए भी छठी पास छात्राएं आवेदन कर सकती हैं।
  • जो छात्रा इस विद्यालय में प्रवेश लेना चाहती हैं। वे अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति अथवा पिछड़े वर्ग से संबंधित हों।
  • सामान्य वर्ग की छात्राओं को प्रवेश भी दिया जाएगा अगर सीटें खाली रहीं। इस विद्यालय में निशुल्क आवासीय होस्टल, शिक्षा, पढ़ने लिखने की सामग्री, बस्ते, वर्दी आदि प्रदान की जाती है।

कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय admission 2022

कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय (KGBV) में प्रवेश के लिए सालाना स्तर पर परीक्षा का आयोजन किया जाता है|

जिनमे से उच्च रैंक लाने वाले बालिकाओं को प्राथमिक तौर पर एडमिशन दिया जाता है|

कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय Admission अधिक जानकारी के लिए इस पीडीएफ को ध्यान से पढ़िए

Leave a Reply

Your email address will not be published.